Shiv aarti – Om jai shiv omkara lyrics, lord shivji aarti – Bhakti Sagar live

Shiv aarti lyrics (Om jai shiv omkara lord shivji aarti)

Om jai shiv omkara lyrics

 

 
भक्ति सागर लाइव आज आपके लिए ॐ जय शिव ओमकारा शिव आरती लेकर आया है।  
 
ॐ जय शिव ओमकारा शिवजी की आरती  है, आरती द्वारा हम भोलेनाथ जी से सदा खुश रहने और दुःख दूर करने के लिए निवेदन करते है।
 
कहते है कि जो भी शिवजी की आरती करता है वो मनवांछित फल प्राप्त करता है।

आओ भोलेनाथ जी की आरती करे और अपने दुःख दर्द को दूर करे।

Om Jai shiv omkara lyrics in hindi 

 

 
Om jai shiv omkara lyrics in hindi

 

ॐ जय शिव ओंकारा स्वामी हर  शिव ओंकारा
ब्रम्हा विष्णु सदाशिव अर्ध्नागी धारा
🙏🏻ॐ जय शिव ओंकारा🙏🏻
 
एकानन चतुरानन पंचानन राजे
 हंसासंन, गरुड़ासन, वृषवाहन साजे
🙏🏻ॐ जय शिव ओंकारा🙏🏻
 
दो भुज चार चतुर्भुज दस भुज अति सोहें
तीनों रुप निरखता त्रिभुवन जन मोहें
🙏🏻ॐ जय शिव ओंकारा🙏🏻
 
अक्षमाला, बनमाला, रुण्ड़मालाधारी
चंदन, मृदमग सोहें, भाले शशिधारी
🙏🏻ॐ जय शिव ओंकारा🙏🏻
 
श्वेताम्बर,पीताम्बर, बाघम्बर अंगे
सनकादिक, ब्रम्हादिक, भूतादिक संगें
🙏🏻ॐ जय शिव ओंकारा🙏🏻
 
कर के मध्य कमड़ंल चक्र, त्रिशूल धरता
जगकर्ता, जगभर्ता, जगसंहारकर्ता
🙏🏻ॐ जय शिव ओंकारा🙏🏻
 
 ब्रम्हा विष्णु सदाशिव जानत अविवेका
प्रवणाक्षर के मध्यें ये तीनों एका
 🙏🏻ॐ जय शिव ओंकारा🙏🏻
 
काशी में विश्वनाथ विराजत नन्दी ब्रम्हचारी
नित उठी भोग लगावत महिमा अति भारी
🙏🏻 ॐ जय शिव ओंकारा🙏🏻
 
त्रिगुण शिवजी की आरती जो कोई नर गावे
 कहत शिवानंद स्वामी मनवांछित फल पावें
🙏🏻ॐ जय शिव ओंकारा🙏🏻

 

Read more